सुप्रीम कोर्ट ने तालाबों और झीलों के गायब होने पर चिंता व्यक्त की

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बृहस्पतिवार (20 जुलाई, 2017) को देश में तालाबों, झीलों के गायब होने पर चिंता व्यक्त की है। देश की शीर्ष अदालत ने केंद्र से जल निकायों को संरक्षित करने संबंधी विभिन्न कार्यों में खर्च होने वाली 'भारी रकम' का ब्योरा देने को कहा है।
सुप्रीम कोर्ट ने तालाबों और झीलों के गायब होने पर चिंता व्यक्त की The Supreme Court of India expresses concern over the disappearance of ponds and lakes

अदालत ने यह पाया कि एक रिपोर्ट के अनुसार कई जलक्षेत्र और झीलें सूख चुकी हैं। चेन्नई में साल दिसंबर 2015 में आई बाढ़ का एक कारण यह भी था। जस्टिस मदन बी लोकुर और दीपक गुप्ता की पीठ ने कहा कि भोपाल और बंगलूरू जैसे क्षेत्रों में झीलें गायब हो चुकी हैं। सरकार ने अदालत से कहा कि उसने देश में दो लाख से अधिक झीलों को चिह्नित और विवरण संबंधी नया हलफनामा तैयार कर रही है। 


(समाचार अपडेट - 21 जुलाई, 2017 ई.)


Keywords :- The Supreme Court of India expresses concern over the disappearance of ponds and lakes



अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भूलें -

फेसबुक (Facebook) - हिन्दी एलियंस | HindiAliens.com
ट्विटर (Twitter) - https://twitter.com/HindiAliens
यूट्यूब (YouTube) - https://www.youtube.com/channel/UCEil3BQ-jdLF3AbVJv-g2dQ

Comments

Popular from HindiAliens.com

नासा के हब्बल टेलीस्कोप ने एक ग्रह पर पानी की बूंदे खोजीं

हिन्दी दिवस - भाषा, बोली, लिपि, व्याकरण, साहित्य

अच्छी नींद के लिए खाएं लहसुन

इस सदी के अंत तक वायु प्रदूषण से 2 लाख 60 हजार मौतों की संभावना जताई गई है

इस सदी के अंत तक पृथ्वी का तापमान दो डिग्री बढ़ेगा

Computer Fundamentals - Introduction of Computers and Definition of Computers

अवसाद में फायदेमंद है योग