अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग का बैग 11.58 करोड़ में नीलाम

अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग का बैग 11.58 करोड़ में नीलाम American Astronaut Neil Armstrong Bag 11.58 Crores Auctioned
न्यूयॉर्क। चांद की धरती पर कदम रखने वाले पहले अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग द्वारा चंद्र मिशन के दौरान इस्तेमाल किया गया बैग गुरुवार (20 जुलाई, 2017) को 11.58 करोड़ रुपये में नीलाम हुआ। आर्मस्ट्रांग ने ऐतिहासिक अपोलो-11 अंतरिक्ष मिशन के दौरान इस बैग का उपयोग किया था।

अपोलो-11 मिशन की 48वीं वर्षगांठ के अवसर पर न्यूयॉर्क में आयोजित एक नीलामी के दौरान गुमनाम खरीदार ने 18 लाख डॉलर (करीब 11.58 करोड़ रुपये) में बैग को खरीदा। यह वही बैग है जिसमें आर्मस्ट्रांग चंद्रमा की सतह से मिट्टी भरकर पृथ्वी पर लाए थे। नीलामीकर्ता सोथबॉय ने बताया कि यह बैग कई वर्षों तक हॉस्टन के जॉनसन अंतरिक्ष केंद्र में डिब्बे में बंद रहा। नीलामी में एक व्यक्ति ने पहचान गुप्त रखे जाने की शर्त पर इस बैग के लिए फोन पर बोली लगाई। उन्होंने बताया कि चंद्रमा के दृष्टिकोण से विभिन्न अंतरिक्ष कार्यक्रमों और मिशन में प्रयोग की गई वस्तुओं की नीलामी में यह अब तक की सबसे महंगी बिकने वाली वस्तु है। नील आर्मस्ट्रांग और उनके साथियों ने जुलाई 1969 में अपोलो-11 अंतरिक्ष मिशन के दौरान इस 'लूनर सैंपल रिटर्न' बैग का उपयोग किया था। इसकी लंबाई 30 और चौड़ाई 22 सेंटीमीटर है।



(समाचार अपडेट - 22 जुलाई, 2017 ई.)


Keywords - American Astronaut Neil Armstrong Bag 11.58 Crores Auctioned



अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भूलें -

फेसबुक (Facebook) - हिन्दी एलियंस | HindiAliens.com
ट्विटर (Twitter) - https://twitter.com/HindiAliens
यूट्यूब (YouTube) - https://www.youtube.com/channel/UCEil3BQ-jdLF3AbVJv-g2dQ

Comments

Popular from HindiAliens.com

सोशल मीडिया से अखबार पढ़ने और टीवी देखने वालों की संख्या घट रही है - एसोचैम

अच्छी इम्यूनिटी के लिए करें अदरक और तुलसी का सेवन | Use Ginger and Basil/Tulsi for Good Immunity

इस सदी के अंत तक पृथ्वी का तापमान दो डिग्री बढ़ेगा

अच्छी नींद के लिए खाएं लहसुन

नासा के हब्बल टेलीस्कोप ने एक ग्रह पर पानी की बूंदे खोजीं

अवसाद में फायदेमंद है योग

इस सदी के अंत तक वायु प्रदूषण से 2 लाख 60 हजार मौतों की संभावना जताई गई है