अरबों टन प्लास्टिक कचरे से धरती की सांस फूली

Space Pollution Junk Problem in Hindi
चित्र साभार - quarkmag.com
लॉस एंजिलिस। यह यकीन करना मुश्किल है लेकिन यह सबसे बड़ा सच है कि पिछले करीब सात दशक में मानव ने 8.3 अरब मीट्रिक टन प्लास्टिक का उत्पादन किया। इसमें से बड़ी मात्रा अब कचरे के रूप में जगह-जगह एकत्र हो चुकी है।

अमेरिका के जॉर्जिया विश्वविद्यालय के अध्ययनकर्ताओं ने बताया कि वर्ष 1950 से 2015 तक मानव ने करीब 8.3 अरब मीट्रिक टन प्लास्टिक का उत्पादन किया है। इसमें से अब तक 6.3 अरब टन प्लास्टिक का कचरे के रूप में ढेर लग चुका है, जबकि कचरे की इस बड़ी मात्रा के महज 9 फीसदी हिस्से को रीसाइकिल किया जा सका है। 12 फीसदी हिस्से को जलाकर नष्ट किया गया जबकि 79 फीसदी हिस्सा अब भी कचरे के रूप में विभिन्न लैंडफिल पर पड़ा हुआ है। उन्होंने आगे कहा कि अगर वर्तमान दौर ऐसे ही चलता रहा तो वर्ष 2050 तक 12 अरब मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा लैंडफिल पर पड़ा नजर आएगा।



(समाचार अपडेट - 22 जुलाई, 2017 ई.)


Keywords :- Space Pollution and Junk Problem in Hindi


अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भूलें -

फेसबुक (Facebook) - हिन्दी एलियंस | HindiAliens.com
ट्विटर (Twitter) - https://twitter.com/HindiAliens

यूट्यूब (YouTube) - https://www.youtube.com/channel/UCEil3BQ-jdLF3AbVJv-g2dQ

Comments

Popular from HindiAliens.com

सोशल मीडिया से अखबार पढ़ने और टीवी देखने वालों की संख्या घट रही है - एसोचैम

अच्छी इम्यूनिटी के लिए करें अदरक और तुलसी का सेवन | Use Ginger and Basil/Tulsi for Good Immunity

इस सदी के अंत तक पृथ्वी का तापमान दो डिग्री बढ़ेगा

अच्छी नींद के लिए खाएं लहसुन

नासा के हब्बल टेलीस्कोप ने एक ग्रह पर पानी की बूंदे खोजीं

अवसाद में फायदेमंद है योग

इस सदी के अंत तक वायु प्रदूषण से 2 लाख 60 हजार मौतों की संभावना जताई गई है