बातूनी लोग नई भाषा जल्दी से सीखते हैं और शर्मीले लोग सुनने के मामले में बेहतर हैं

बातूनी लोग नई भाषा जल्दी से सीखते हैं और शर्मीले लोग सुनने के मामले में बेहतर हैं Talking People Learn New Language Quickly and Shy People are better in Hearing
नई दिल्ली। वैज्ञानिकों ने यह माना है कि बातूनी लोग नई भाषा सीखने, पढ़ने और बोलने के मामले में बेहतर हो सकते हैं, लेकिन सुनने के मामले में झिझकने वाले और शर्मीले लोग बेहतर होते हैं।

पंजाब केन्द्रीय विश्वविद्यालय की भाषा विज्ञानी शहला जफर और उनके सहयोगियों ने अध्ययन किया कि भारत में आए चीनी छात्रों की अंतर्मुखी और बहिर्मुखी प्रवृत्तियाँ उनकी अंग्रेजी भाषा में दक्षता को कैसे प्रभावित करती हैं। मनोवैज्ञानिकों का मानना है कि अंतर्मुखी लोगों का ध्यान कम भटकता है और उनकी दूरगामी याददाश्त ज्यादा अच्छी होती है। वहीं भाषा वैज्ञानिकों का दावा रहा है कि समाज में घुलना मिलना और खुलापन बहिर्मुखी लोगों को विदेशी भाषा सीखने में मदद करता है।


(समाचार अपडेट - 24 जुलाई, 2017 ई.)


Keywords - Talking People Learn New Language Quickly and Shy People are better in Hearing



अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भूलें -

फेसबुक (Facebook) - हिन्दी एलियंस | HindiAliens.com
ट्विटर (Twitter) - https://twitter.com/HindiAliens

यूट्यूब (YouTube) - https://www.youtube.com/channel/UCEil3BQ-jdLF3AbVJv-g2dQ

Comments

Popular from HindiAliens.com

सोशल मीडिया से अखबार पढ़ने और टीवी देखने वालों की संख्या घट रही है - एसोचैम

अच्छी इम्यूनिटी के लिए करें अदरक और तुलसी का सेवन | Use Ginger and Basil/Tulsi for Good Immunity

इस सदी के अंत तक पृथ्वी का तापमान दो डिग्री बढ़ेगा

अच्छी नींद के लिए खाएं लहसुन

नासा के हब्बल टेलीस्कोप ने एक ग्रह पर पानी की बूंदे खोजीं

अवसाद में फायदेमंद है योग

इस सदी के अंत तक वायु प्रदूषण से 2 लाख 60 हजार मौतों की संभावना जताई गई है