तनाव का दांतों पर बुरा असर और 95 प्रतिशत भारतीयों को मसूड़ों की बीमारी

तनाव का दांतों पर बुरा असर और 95 प्रतिशत भारतीयों को मसूड़ों की बीमारी
नई दिल्ली। ज्यादा तनाव लेना स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक होता है। यह बात आमतौर पर सभी जानते हैं, लेकिन तनाव का दांतों की सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। यह एक नए अध्ययन से पता चलता है। भारत में दांतों की समस्याओं को गंभीरता से नहीं लिया जाता है। हाल ही में हुए एक नए अध्ययन से पता चला है कि लगभग 95 प्रतिशत भारतीयों को मसूड़ों की बीमारी है।

आईएमए के अध्यक्ष डॉ. के. के. अग्रवाल जी ने कहा कि तनाव का दांतों की सेहत पर बुरा असर होता है। तनाव के चलते कई लोग मदिरापान और धूम्रपान शुरू कर देते हैं, जिसका आगे चलकर दांतों पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। जानकारी के अभाव में ग्रामीण इलाकों में दांतों की समस्या अधिक मिलती है। शहरों में जंक फूड और जीवनशैली की अन्य कुछ गलत आदतों के कारण दांतों में समस्याएँ पैदा हो जाती हैं। प्रसंस्कृत भोजन में चीनी अधिक होने से भी नई पीढ़ी में विशेष रूप से दांत प्रभावित हो रहे हैं।

चिंताजनक स्थिति


  • 50 प्रतिशत लोग भारत में टूथब्रश का उपयोग ही नहीं करते हैं।
  • 70 प्रतिशत बच्चों (15 वर्ष से कम उम्र) के दांत हो चुके हैं खराब


इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) | Indian Medical Association (IMA) के अनुसार, भारत में लोग नियमित रूप से दंत चिकित्सक (डेंटिस्ट) के पास जाने की बजाय, कुछ खाद्य और पेय पदार्थों का परहेज करके खुद अपना उपचार कर लेते हैं। दांतों की सेंस्टिविटी एक बड़ी समस्या है। जबकि इस समस्या वाले मुश्किल से चार प्रतिशत लोग ही डेंटिस्ट के पास जाकर परामर्श लेते हैं। उन्होंने कहा कि दांतों में थोड़ी सी भी परेशानी की अनदेखी नहीं करनी चाहिए और जितनी जल्दी हो सके, डेंटिस्ट से मिलना चाहिए। दांत दर्द, मसूड़ों से रक्तस्त्राव और दांतों में सेंस्टिविटी को नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए।

वयस्कों के अलावा, दांतों की समस्याएँ बच्चों में भी आम होती है। दूध की बोतल का प्रयोग करने वाले शिशुओं के आगे के चार दूध के दांत अक्सर खराब हो जाते हैं। डॉ. अग्रवाल बताया कि बोतल से दूध पीने वाले बच्चों के दांत खराब हो सकते हैं।

बच्चों को दूध पिलाने के बाद साफ कपड़े से शिशुओं के मसूड़े और दांत पोंछने चाहिए। अगर ऐसा नहीं करेंगे तो उनमें दांतों के संक्रमण से हृदय संबंधी समस्याएँ भी हो सकती हैं।



(समाचार अपडेट - 22 जुलाई, 2017)


अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भूलें -

ट्विटर (Twitter) - https://twitter.com/HindiAliens

Comments

  1. This is nice way|a good way|an efficient way} for on-line casinos to advertise their sites. With some casinos, have the ability to|you presumably can} solely take a part of} apply mode before using actual money to play. When it involves Internet Real Money Slots, the net casinos, everywhere in the the} web, presents a huge sum of money as a bonus to their contemporary gamers. All the actions are dealt with with the assistance of laptop software. But, on-line slots have a fantastic advantage over bet365 machine slots i.e. they'll offer you the facility to play for enjoyable, whenever you don’t have any sort of money.

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular from HindiAliens.com

भारत सरकार ने 500 व 1000 रुपये के नोट का चलन बंद किया, RBI ने 500 और 2000 रुपये के नये नोट जारी किए

अच्छी इम्यूनिटी के लिए करें अदरक और तुलसी का सेवन | Use Ginger and Basil/Tulsi for Good Immunity

हिन्दी दिवस - भाषा, बोली, लिपि, व्याकरण, साहित्य

इस सदी के अंत तक पृथ्वी का तापमान दो डिग्री बढ़ेगा

वैज्ञानिकों ने बुढ़ापा रोकने का एक तरीका खोजा