Posts

Showing posts with the label World

नासा के हब्बल टेलीस्कोप ने एक ग्रह पर पानी की बूंदे खोजीं

Image
वैज्ञानिकों ने पृथ्वी के सौर तंत्र के बाहर स्थित एक ग्रह के वातावरण में पहली बार पानी की बूंदे जैसे अणुओं की पहचान की है। नासा के अंतरिक्ष टेलीस्कोप हब्बल ने यह महत्वपूर्ण खोज की है। वैज्ञानिकों ने बताया कि हमारे सौर तंत्र के गर्म ग्रह बृहस्पति की तरह ही विशाल ग्रह वास्प-121बी के वातावरण में पानी की बूंदों जैसी संरचना दिखाई दी है। यह ग्रह पृथ्वी से करीब 900 प्रकाशवर्ष की दूरी पर स्थित है। वैज्ञानिकों का मानना है कि इस ग्रह का तापमान इतना ज्यादा है कि यहां एलियन या किसी जीव के रहने का दावा भी नहीं किया जा सकता है। इस वातावरण के एक स्तर का तापमान लोहा भी पिघला सकता है। (न्यूज़ अपडेट : 5 अगस्त, 2017 ई. ) Keywords :- NASA Hubble Telescope discovered water droplets on a planet यह भी पढ़ें | Read More हब्बल टेलीस्कोप ने ली मंगल ग्रह के चांद फोबस की 13 तस्वीरें पृथ्वी की मैंटल सतह 60 डिग्री सेल्सियस ज्यादा गर्म अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग का बैग 11.58 करोड़ में नीलाम अरबों टन प्लास्टिक कचरे से धरती की सांस फूली अब घर बैठे अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन

इस सदी के अंत तक वायु प्रदूषण से 2 लाख 60 हजार मौतों की संभावना जताई गई है

Image
वाशिंगटन। पर्यावरण में बदलाव के चलते वर्ष 2030 तक दुनियाभर में करीब 60 हजार लोगों की जान जा सकती है। एक अध्ययन में चेताया गया है कि इस सदी के अंत तक वायु प्रदूषण से 2 लाख 60 हजार लोगों की मौत होने की आशंका है। अमेरिका स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ कैरोलिना ( University of North Carolina)  द्वारा कराए एक अध्ययन में कहा गया है कि दुनियाभर में पर्यावरणीय बदलावों का सेहत पर बुरा असर पड़ रहा है। इसमें देखा गया है कि किस तरह का बदलाव वायु प्रदूषण के जरिए सेहत को नुकसान पहुँचाएगा। शोध की अगुवाई करने वाले जेसन वेस्ट ने बताया कि जैसे-जैसे पर्यावरणीय बदलाव वायु प्रदूषण को बढ़ाता जाएगा, दुनियाभर में लोगों की सेहत पर इसका असर भी बढ़ता जाएगा। (समाचार अपडेट - 2 अगस्त, 2017 ई.) Keywords - the end of this century went forecast of 2 lakh 60 thousand deaths from air pollution news in hindi अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भूलें - फेसबुक (Facebook)  -  हिन्दी एलियंस | HindiAliens.com ट्विटर (Twitter)  

इस सदी के अंत तक पृथ्वी का तापमान दो डिग्री बढ़ेगा

Image
वाशिंगटन। एक अध्ययन में चेतावनी जारी की गई है कि इस सदी के अंत तक पृथ्वी का तापमान दो डिग्री से 4.9 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ सकता है। यह आंकड़ा वर्ष 2016 के पेरिस समझौते में दर्शाए अनुमान से बहुत अधिक है। यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन के प्रो. एंड्रियन राफ्टेरी ने कहा कि अगले आठ दशक में धरती का तापमान पांच डिग्री तक बढ़ सकता है। अध्ययन में इस बात की संभावना 5 प्रतिशत है कि पृथ्वी के तापमान में दो डिग्री या इससे कम की बढ़ोतरी हो सके। ऐसा तभी हो सकता है, जब 80 वर्षों तक मोर्चों पर स्थायी प्रयास किए जाएं। (समाचार अपडेट - 2 अगस्त, 2017 ई. ) Keywords - The end of this Century the Temperature of the Earth will Grow Two Degrees अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भूलें - फेसबुक (Facebook)  -  हिन्दी एलियंस | HindiAliens.com ट्विटर (Twitter)  -  https://twitter.com/HindiAliens यूट्यूब (YouTube)  -  https://www.youtube.com/channel/UCEil3BQ-jdLF3AbVJv-g2dQ

तिब्बत के पास 'मार्स विलेज' बसाएगा चीन

Image
बीजिंग। चीन की महत्वकांक्षी योजना 2020 तक मंगल ग्रह पर अपना पहला मिशन भेजने की है ताकि वह अंतरिक्ष क्षेत्र में अमेरिका, भारत और रूस की बराबरी कर सके। इसी लिए वह तिब्बत के पास किंघाई प्रांत में 'मार्स विलेज' बसाएगा। क्योंकि तिब्बत का यह क्षेत्र मंगल ग्रह की सतह से मिलता जुलता है। इस प्रोजेक्ट के तहत शिक्षा, पर्यटन, वैज्ञानिक रिसर्च और प्रशिक्षण आदि भी शामिल होंगे। 'मार्स विलेज' में फिल्मों की शूटिंग के लिए सेट भी तैयार किया जाएगा। (समाचार अपडेट -  27 जुलाई, 2017 ई. ) अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भूलें - फेसबुक (Facebook)  -  हिन्दी एलियंस | HindiAliens.com ट्विटर (Twitter)  -  https://twitter.com/HindiAliens यूट्यूब (YouTube)  -  https://www.youtube.com/channel/UCEil3BQ-jdLF3AbVJv-g2dQ

दिनभर खुश रहने से स्वास्थ्य लाभ बेहतर होता है

Image
न्यूयॉर्क। दिनभर खुश रहने से या फिर कई तरह के सकारात्मक भावों को महसूस करने वाले लोगों में किसी भी प्रकार की पुरानी बीमारी, असमय मृत्यु की संभावना काफी कम रहती है और स्वास्थ्य लाभ बेहतर होता है । एक हालिया अध्ययन में इस बात की जानकारी सही साबित हुई है। अमेरिका की कॉर्नल यूनिवर्सिटी (Cornell University)  के शोधकर्ताओं ने अपने एक अध्ययन में पाया कि दिनभर खुश रहने वालों की अपेक्षा कम खुश रहने वाले जलन के कम स्तर को महसूस करते हैं। जलन का कम स्तर सीधे तौर पर असमय मृत्यु और पुरानी बीमारी जैसे डायबिटीज के खतरे को कम करता है। शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में 40 वर्ष से 65 वर्ष के 175 लोगों को शामिल किया था। शोधकर्ताओं ने 30 दिन तक इन सभी के सकारात्मक भावों का अध्ययन किया है। यह शोध हाल ही में 'इमोशन' ( Emotion)  पत्रिका में प्रकाशित की गई है। (समाचार अपडेट - 25 जुलाई, 2017 ई. ) Keywords -  Staying Happy all day Long Health Benefits are better अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भूलें -

अब घर बैठे अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन की सैर कर सकेंगे

Image
न्यूयॉर्क। गूगल मैप स्ट्रीट व्यू फीचर के द्वारा लोगों को घर बैठे अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) के अंदर का दृश्य देखने की सुविधा देगा। सर्च इंजन गूगल ने इसका ऐलान किया है। अंतरिक्ष पहुँचा गूगल फीचर गूगल मैप और गूगल अर्थ में उपलब्ध यह तकनीकी फीचर 360 डिग्री के कोण से किसी भी जगह का दृश्य दिखा सकता है। इसको इसी साल लांच किया गया था। अभी तक यह दुनिया के ही किसी जगह का दृश्य दिखाने तक ही सीमित था। लेकिन यह पहली बार होगा कि जब गूगल ने इस फीचर का विस्तार पृथ्वी से बाहरी अंतरिक्ष में कर दिया है। यूजर्स इस फीचर के जरिए आईएसएस के 15 हिस्सों का नजारा देख सकते हैं। तस्वीरों के अंदर मौजूद छोटे-छोटे बिन्दुओं के जरिये यूजर्स विशेष कार्यों के बारे में जानकारी ले सकते हैं। यूरोपीय स्पेस एजेंसी की मदद ली यूरोपीय स्पेस एजेंसी (यूएसए ) के अंतरिक्ष यात्री थॉमस पेस्केट ने आईएसएस में छह महीने तक रहकर उसकी अंदरूनी दृश्यों की तस्वीरें लीं ताकि लोगों को यह दिखाया जा सके कि आईएसएस अंदर से कैसा दिखता है। उन्होंने वहाँ से पृथ्वी की भी तस्वीर लीं है। थॉमस पेस्केट ने एक ब्लॉग पोस्ट मे

चीन में मेट्रो से 3 गुना तेज स्काई ट्रेन का हो रहा है परीक्षण

Image
चीन के शानदोंग प्रांत में स्काई ट्रेन के परीक्षण की तैयारी पूरी होने के बाद जारी तस्वीर बीजिंग। चीन की सबसे नई और सबसे तेज ट्रेन परीक्षण के चरण में सफलता से पहुँच चुकी है। हवा में झूलती मेट्रो से तीन गुना तेज इस ट्रेन का नजारा शानदोंग प्रांत के कगिंदाओ शहर के लोगों के लिए आम हो चुका है। चाइनान्यूज डॉट कॉम ने यह रिपोर्ट दी है। इस मोनोरेल को चीन का सबसे तेज रेलवे लाइन माना जा रहा है। यह कई रिकॉर्ड तोड़ चुकी है। हालाँकि अभी यह परीक्षण के चरण में है। जिस ऊँचाई पर यह बनी है उसको देखते हुए इस पर चलने वाली ट्रेन को स्काईट्रेन (Sky Train)  नाम दिया गया है। (समाचार अपडेट - 23 जुलाई, 2017 ) अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भूलें - फेसबुक (Facebook)  -  हिन्दी एलियंस | HindiAliens.com ट्विटर (Twitter)  -  https://twitter.com/HindiAliens यूट्यूब (YouTube)  -  https://www.youtube.com/channel/UCEil3BQ-jdLF3AbVJv-g2dQ

अच्छी इम्यूनिटी के लिए करें अदरक और तुलसी का सेवन | Use Ginger and Basil/Tulsi for Good Immunity

Image
विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) के अनुसार, दुनिया की 92 प्रतिशत जनसंख्या WHO के मानकों के नीचे वाली हवा की गुणवत्ता में साँस ले रही है। इस कारण लोग अधिक बीमार हो रहे हैं। उनमें स्ट्रोक (Stroke) , दिल संबंधी रोग (H eart Disease) , फेफड़े का कैंसर (L ung Cancer)  और साँस संबंधी समस्याएँ (R espiratory Problems)  हो रही हैं। वायु प्रदूषण (Air Pollution)   से होने वाले प्रभाव को कम करने के लिए विशेषज्ञ जीवनशैली में बदलाव करने की सलाह दे रहे हैं, जैसे कि सुबह के समय बाहरी गतिविधि जैसे जॉगिंग (J ogging)   / हल्का-फुल्का दौड़ना या साइकिलिंग (C ycling)  वगैरह न करें। खुले में व्यायाम करने की बजाय घर में ही व्यायाम करें। साथ ही विटामिन-सी ( Vitamin C)  और मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन ( Magnesium-Rich foods)   करें। अदरक (Ginger) और तुलसी की चाय (Basil/ Tulsi Tea)  पियें। इम्यूनिटी (I mmunity)  को बढ़ाने के लिए यह बेहतर उपाय है।  Keywords :- Use Ginger and Basil/Tulsi for Good Immunity

अरबों टन प्लास्टिक कचरे से धरती की सांस फूली

Image
चित्र साभार - quarkmag.com लॉस एंजिलिस। यह यकीन करना मुश्किल है लेकिन यह सबसे बड़ा सच है कि पिछले करीब सात दशक में मानव ने 8.3 अरब मीट्रिक टन प्लास्टिक का उत्पादन किया । इसमें से बड़ी मात्रा अब कचरे के रूप में जगह-जगह एकत्र हो चुकी है। अमेरिका के जॉर्जिया विश्वविद्यालय के अध्ययनकर्ताओं ने बताया कि वर्ष 1950 से 2015 तक मानव ने करीब 8.3 अरब मीट्रिक टन प्लास्टिक का उत्पादन किया है । इसमें से अब तक 6.3 अरब टन प्लास्टिक का कचरे के रूप में ढेर लग चुका है, जबकि कचरे की इस बड़ी मात्रा के महज 9 फीसदी हिस्से को रीसाइकिल किया जा सका है। 12 फीसदी हिस्से को जलाकर नष्ट किया गया जबकि 79 फीसदी हिस्सा अब भी कचरे के रूप में विभिन्न लैंडफिल पर पड़ा हुआ है। उन्होंने आगे कहा कि अगर वर्तमान दौर ऐसे ही चलता रहा तो वर्ष 2050 तक 12 अरब मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा लैंडफिल पर पड़ा नजर आएगा। (समाचार अपडेट - 22 जुलाई, 2017 ई. ) Keywords :- Space Pollution and Junk Problem in Hindi अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भू

अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग का बैग 11.58 करोड़ में नीलाम

Image
न्यूयॉर्क। चांद की धरती पर कदम रखने वाले पहले अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग द्वारा चंद्र मिशन के दौरान इस्तेमाल किया गया बैग गुरुवार (20 जुलाई, 2017) को 11.58 करोड़ रुपये में नीलाम हुआ । आर्मस्ट्रांग ने ऐतिहासिक अपोलो-11 अंतरिक्ष मिशन के दौरान इस बैग का उपयोग किया था। अपोलो-11 मिशन की 48वीं वर्षगांठ के अवसर पर न्यूयॉर्क में आयोजित एक नीलामी के दौरान गुमनाम खरीदार ने 18 लाख डॉलर (करीब 11.58 करोड़ रुपये) में बैग को खरीदा। यह वही बैग है जिसमें आर्मस्ट्रांग चंद्रमा की सतह से मिट्टी भरकर पृथ्वी पर लाए थे। नीलामीकर्ता सोथबॉय ने बताया कि यह बैग कई वर्षों तक हॉस्टन के जॉनसन अंतरिक्ष केंद्र में डिब्बे में बंद रहा। नीलामी में एक व्यक्ति ने पहचान गुप्त रखे जाने की शर्त पर इस बैग के लिए फोन पर बोली लगाई। उन्होंने बताया कि चंद्रमा के दृष्टिकोण से विभिन्न अंतरिक्ष कार्यक्रमों और मिशन में प्रयोग की गई वस्तुओं की नीलामी में यह अब तक की सबसे महंगी बिकने वाली वस्तु है। नील आर्मस्ट्रांग और उनके साथियों ने जुलाई 1969 में अपोलो-11 अंतरिक्ष मिशन के दौरान इस 'लूनर सैंपल रिटर्न' बैग

हब्बल टेलीस्कोप ने ली मंगल ग्रह के चांद फोबस की 13 तस्वीरें

Image
वाशिंगटन। नासा (NASA)  के हब्बल टेलीेस्कोप ने मंगल ग्रह के छोटे से चांद फोबस की 13 तस्वीरें ली हैं। फोबस मंगल की परिक्रमा करने वाला एक उपग्रह है, जिसे इसका चंद्रमा घोषित किया गया है। 22 मिनट के दौरान हब्बल ने फोबस की 13 अलग-अलग तस्वीरें लीं। खगोलविदों को इससे एक छोटा सा वीडियो बनाने में मदद मिली है जो इस उपग्रह की कक्षा के पथ को समझाने में मददगार साबित होगा। फोबस सात घंटे 39 मिनट में मंगल ग्रह की परिक्रमा पूरी करता है। मंगल ग्रह पर 24 घंटे 40 का दिन होता है। यह ऐसा पहला उपग्रह है जो अपने ग्रह की इतनी तेज परिक्रमा करता है। ग्रीक मेथालॉजी के अनुसार यूनानी देवता फोबस का इसे नाम दिया गया है जो एरिस का बेटा था। (समाचार अपडेट -  22 जुलाई, 2017 ई. ) Keywords :-  The Hubble Telescope capture 13 pictures Phobos Moon of Mars in Hindi अगर आपको 'हिन्दी एलियंस' की ये न्यूज़ पोस्ट्स पसंद आई हो तो हमें इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर फॉलो करना ना भूलें - फेसबुक (Facebook)  -  हिन्दी एलियंस | HindiAliens.com ट्विटर (Twitter)  -  https://twitter.com/HindiAliens यूट्यूब (YouTu

कॉफी पीने से आयु लंबी हो सकती है

Image
लंदन। कॉफी के शौकीन लोगों के लिए एक अच्छी खबर (Good News) है। एक ताजा शोध से पता चला है कि दिन भर में तीन बार कॉफी पीने से आपकी आयु लंबी हो सकती है। यह शोध यूरोप के दस देशों के करीब 35 साल से ज्यादा आयु के पांच लाख लोगों पर किया गया है। एनॉल्स ऑफ इंटरल मेडिसिन (Anols of Intrl Medicine)  नाम के जर्नल में प्रकाशित शोध में कहा गया है कि एक कप अतिरिक्त कॉफी हर दिन पीने से इंसान की आयु लंबी हो सकती है, भले ही यह कॉफी डिकैफिनेटेड ( Decaffeinated)   (कैफीन निकाला हुआ) ही क्यों ना हो। इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर एंड इम्पेरियल कॉलेज ऑफ लंदन ( International Agency for Research on Cancer and Imperial College of London)  के शोधकर्ताओं का कहना है कि अधिक कॉफी पीने का ताल्लुक दिल और आंत की बीमारी से मरने का जोखिम कम होने से है। (समाचार अपडेट - 21 जुलाई, 2017 ई. ) Keywords :- Age can be longer by drinking coffee health benefits in hindi, Health Benefits News in HIndi, London England Great Britain United Kingdom Health Benefits News in Hindi

अधिकतर लोग सनस्क्रीन लोशन लगाना नहीं जानते

Image
स्किन कैंसर (Skin Cancer) का पहला निशाना अमूनन हमारा चेहरा बनता है, बावजूद इसके सनस्क्रीन लगाते वक्त लोग कई महत्वपूर्ण हिस्सों की अनदेखी कर देते हैं। ब्रिटिश एसोसिएशन ऑफ डर्मेटोलॉजिस्ट   (British Association of Dermatologists) के सालाना बैठक में प्रस्तुत इस रिपोर्ट के मुताबिक अधिकतर लोग सनस्क्रीन लोशन लगाना नहीं जानते हैं सनस्क्रीन लगाते वक्त चेहरे के लगभग 10 प्रतिशत हिस्से की अनदेखी कर जाते हैं। आंखों के आसपास लोग सबसे कम सनस्क्रीन लगाते है, जबकि स्किन कैंसर के पांच से दस प्रतिशत मामले इसी हिस्से में होते हैं। (समाचार अपडेट -  21 जुलाई, 2017 ई. ) Keywords :-  Most people do not know how to apply sunscreen lotions,   Research and Study News Oxford University in England London Great Britain United Kingdom in Hindi

प्रलय तक जिंदा रहेंगे जलरीछ (टार्डीग्रेड)

Image
लंदन। वैज्ञानिकों ने पाया है कि जलरीछ (टार्डीग्रेड) - Tardiegrad  नामक जीव सूर्य के खत्म होने तक जीवित रहेगा यानी प्रलय तक ये जीव जिंदा रहेंगे । ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी  ( Oxford University)  के शोधकर्ताओं ने पाया कि जलरीछ तमाम खगोलीय विनाशों से बच निकलेगा। यह मानव जाति के मुकाबले कम से कम 10 अरब साल ज्यादा समय तक अपना अस्तित्व कायम रखेगा। पृथ्वी का अनश्वर जीव : Immortal Creature of the Earth शोधकर्ताओं ने आठ पैरों वाले इस सूक्ष्म जीव को विश्व का अनश्वर जीव घोषित किया है। उन्होंने कहा, विभिन्न अध्ययनों में इस चीज पर ज्यादा ध्यान दिया गया है कि किसी विनाशकारी खगोलीय घटना का मानव जीवन पर क्या प्रभाव पड़ेगा। लेकिन इसको लेकर अब तक काफी कम जानकारी थी कि ऐसी किसी घटना का जलरीछ के अस्तित्व पर क्या असर होगा अथवा पृथ्वी से जीवन मात्र का ही नामोनिशान मिट जाएगा या बचा रहेगा। शोधकर्ताओं ने कहा, 'हमने पाया कि सूर्य के खत्म होने तक पृथ्वी पर जलरीछ का जीवन कायम रहेगा।' (समाचार अपडेट -  16 जुलाई, 2017 ई. ) Keywords :-  Immortal Creature of the Earth Tardigrade, Lond

भारत दशकों तक चीन से आगे रहेगा

Image
हार्वर्ड विश्वविद्यालय के एक नए अध्ययन में कहा गया है कि भारत वैश्विक वृद्धि के स्तंभ के रूप में उभरा है और दशकों तक चीन से आगे रहेगा । हार्वर्ड विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट (सीआईडी) ( Center for International Development - CID)  के वृद्धि अनुमानों के अनुसार कई कारणों से 7.7 प्रतिशत की औसत वृद्धि दर के साथ 2025 तक तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में शीर्ष पर बना रहेगा। सीआईडी के शोध में कहा गया है कि वैश्विक वृद्धि का केंद्र पिछले कुछ साल में चीन से पड़ोसी भारत की ओर स्थानांतरित हुआ है। आगामी दशक में यह कायम रहेगा। अध्ययन में कहा गया है कि आज की तारीख तक भारत ने जो क्षमताएं हासिल की है, उनके मद्देनजर वह विविध क्षेत्रों में उतरने को लेकर बेहतर स्थिति में उसकी तेज वृद्धि की संभावनाएं कायम रहेंगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत ने अपने निर्यात आधार का विविधीकरण किया है और इसमें रसायन, वाहन और कुछ इलेक्ट्रॉनिक्स सहित अधिक जटिल क्षेत्रों में शामिल किया है। रिपोर्ट कहती है कि प्रमुख पेट्रोलियम अर्थव्यवस्थाएं एक संसाधन पर निर्भर रहने का प्रभाव झेल रही हैं। (समाचा

एडोल्फ हिटलर का ऑस्ट्रिया स्थित घर ध्वस्त नहीं होगा

Image
वियना। नाजी तानाशाह और जर्मनी के पूर्व चांसलर और तानाशाह एडोल्फ हिटलर (Adolf Hitler)  का जन्म ऑस्ट्रिया के जिस घर में हुआ था, उसे अब नहीं तोड़ा जाएगा। इस ऐतिहासिक घर का इस्तेमाल सामाजिक सहायता करने वाला संगठन लेबेनशिलफे करेगा।  ऑस्ट्रिया के गृह मंत्री वोल्फगैंग सोबोटका के बयान के मुताबिक, - 'अपर ऑस्ट्रिया के गवर्नर जोसेफ पुहरिंगर और ब्रानाऊ एम इन कस्बे के मेयर जोहानिस वेडबैचर ने मिलकर एक बैठक के दौरान इस फैसले को लिया है।' Keywords :-   Adolf Hitler birth house in Austria News

ध्वनि की गति से भी पांच गुना तेज है रूस की जिरकोन हाइपरसोनिक मिसाइल

Image
मास्को । रूस  (Russia)  ने हाल में एक नई  हाइपरसोनिक मिसाइल (Hypersonic Missile)  तैयार की है जिसका नाम  'जिरकोन' (Zircon)  है। जिसने दुनिया भर के सभी शक्तिशाली देशों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। इस मिसाइल के बारे में जो समचार मिल रहा है उसके अनुसार इसकी रफ्तार ध्वनि की गति से पांच गुना तेज है जिसकी वजह से इसे रोक पाना मुश्किल है। इस हाइपरसोनिक एंटी-शिप मिसाइल की रफ्तार लगभग 7400 किलोमीटर प्रति घंटा है। रूस के रक्षा मंत्रालय ने 28 मार्च, 2017 को को 'जिरकोन' (Zircon) मिसाइल की तस्वीर जारी की थी।  चित्र साभार -  website.chaltefirte.com जिरकोन मिसाइल के बारे में कहा जा रहा है कि इसे एक बार लांच करने के बाद रोकना मुश्किल है। अगर इसे रोका भी गया तो इसका क्षतिग्रस्त मलबा भी निशाने को काफी हद तक नुकसान पहुँचा सकता है। जहाँ एक तरफ उत्तर कोरिया के क्रूर तानाशाह किम जोंग उन अपनी परमाणु मिसाइलों का परीक्षण करके अमेरिका और विश्व भर के ताकतवर देशों को धमकाने की कोशिश कर रहे हैं। उसी दौरान रूस द्वारा 'जिरकोन' मिसाइल का निर्माण एक भयंकर शीत युद्ध की शुरुआत कर सकती है। अब देख

पृथ्वी की मैंटल सतह 60 डिग्री सेल्सियस ज्यादा गर्म

Image
हमारी निवास ग्रह पृथ्वी (Earth) की सबसे ठोस और चट्टानी परत भूप्रावार (मैंटल - Mantle) अब तक वैज्ञानिकों की ज्ञात जानकारी और सूचनाओं की अपेक्षानुसार 60 डिग्री सेल्सियस अधिक गर्म पाई गई है। साभार :  Live Science अमेरिका के वुड्स होल ओसिएनोग्राफिक इंस्टिट्यूशन (WHOI ) के नेतृत्व में हाल में किए गए अध्ययन से ज्ञात होता है कि समुद्री बेसिन के निर्माण समेत पृथ्वी विज्ञान (Earth Science ) से जुड़े विभिन्न मुद्दों को लेकर वैज्ञानिकों की सोच में परिवर्तन हो सकता है। मैंटल के 1,400 से अधिक डिग्री सेल्सियस के तापमान के सामने 60 डिग्री की बढ़ोतरी कुछ खास महत्वपूर्ण नहीं लगता है। मगर इससे वैज्ञानिकों को टैक्टोनिक प्लेट   ( Tactonic plate)   की स्थिति में बदलाव आदि विषयों को समझने में काफी मदद मिल सकती है। Keywords - Earth’s mantle may be hotter than thought

भारत में दुनिया के 70 प्रतिशत बाघ है

Image
3 मार्च, सन् 2017 ई. को 'विश्व वन्यजीव दिवस' ( World Wildlife Day )   के अवसर पर भारत के केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री श्री अनिल दवे जी ने कहा कि - 'भारत में दुनिया के 70 फीसदी ( यानी करीब 2,400 ) बाघ मौजूद हैं। वहीं, गिर के जंगलों में शेरों की संख्या भी 2,400 तक पहुँच चुकी है। इसके अलावा एक सींग वाले गैंडों की संख्या के मामले में भी भारत अव्वल है।' उन्होंने आगे कहा - 'वन्य जीवों के संरक्षण का ज्ञान भारत में अतीत से मौजूद है।'